Home राष्ट्रीय UPSC टॉपर्स और IAS अधिकारियों ने सेमिनार में छात्रों को दिए सफलता...

UPSC टॉपर्स और IAS अधिकारियों ने सेमिनार में छात्रों को दिए सफलता के टिप्स, डीएम ने कहा किसी भी क्षेत्र में सफलता के लिए रुचि और समर्पण जरूरी….

रिपोर्ट – रवि शंकर सिन्हा/ईशु राज

सिल्क टीवी भागलपुर (बिहार) : भागलपुर के बरारी स्थित जिला निबंधन सह परामर्श केन्द्र DRCC में शनिवार को “आईएएस टॉपर्स बताएंगे कैसे करें IAS की तैयारी” विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। नेशनल एसोसिएशन ऑफ सिविल सर्वेंट्स बिहार झारखंड और भागलपुर जिला प्रशासन की ओर से आयोजित कार्यक्रम में आईएएस टॉपर्स और जिले के IAS अधिकारियों ने अपने अनुभव सांझा किए।

कार्यक्रम का उदघाटन डीएम सुब्रत कुमार सेन, डीडीसी प्रतिभा रानी, आईएएस टॉपर्स ऑल इण्डिया रैंक सेवन प्रवीण कुमार और ऑल इण्डिया रैंक टेन सत्यम गांधी, डीईओ संजय कुमार और डीटीओ फिरोज अख्तर ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया। जबकि कार्यक्रम की शुरुआत आईएएस टॉपर्स को बुके देकर स्वागत से की गई।

इस दौरान अपने संबोधन में डीएम सुब्रत कुमार सेन ने कहा कि प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने वाले किसी भी प्रतियोगी का लक्ष्य केवल आईएएस बनना नहीं होना चाहिए, बल्कि अनुशासित ढंग से परीक्षा की तैयारी के साथ जनसेवा का भाव भी होना आवश्यक है। डीएम ने कहा कि आईएएस या किसी भी प्रतियोगिता में सफल होने के बाद भी अपनी जिम्मेदारियों के प्रति सजग होकर कार्य करना होता है,

जिससे कार्य में आने वाली बाधाओं को सहजता से पार किया जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि आईएएस कोई भी बन सकता है, लेकिन किसी भी फील्ड में जाने के लिए सबसे पहले उसमें रुचि और उसके लिए समर्पण होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जीवन में कुछ भी बनने के लिए उसके बारे में सोचना जरूरी है, लेकिन उसके लिए कड़ी मेहनत के साथ आपको सही दिशा में प्रयास करना होगा।

इसके अलावा डीडीसी प्रतिभा रानी ने भी आईएएस तैयारी और सफलता के बाद कार्यक्षेत्र में मिले अनुभवों को सांझा किया। साथ ही प्रतियोगी छात्राओं और युवाओं को अपने लक्ष्य और कार्यों के प्रति लगनशील होने की बात कही।

वहीं यूपीएससी की परीक्षा में ऑल इण्डिया लेवल पर सातवां रैंक प्राप्त करने वाले प्रवीण कुमार और दसवां स्थान प्राप्त करने वाले सत्यम गांधी ने आईएएस परीक्षा की तैयारी करने के दौरान प्राप्त किए अनुभवों के साथ इसमें होने वाली कठिनाइयों से निकलने के बारे में भी जानकारी दी।

आईएएस टॉपर प्रवीण कुमार ने कहा कि पूरी ईमानदारी और लगन से तैयारी करने के साथ किताबों का गहन अध्ययन करना भी आवश्यक है, जबकि सफलता के लिए बड़ों के सम्मान करने के साथ उनकी बातों को भी ध्यान से सुनना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि किसी भी सफलता के लिए एक अच्छा इंसान बनना जरूरी है। प्रवीण कुमार ने कहा कि तैयारी के दौरान कई उतार चढ़ाव और बाधाओं के आने के बावजूद इससे पार पाने के लिए मानसिक रूप से मजबूत होना आवश्यक है।

जबकि देश में दसवीं रैंक प्राप्त करने वाले आईएएस टॉपर सत्यम गांधी ने कहा कि अनुशासन के साथ नियमित रूप से तैयारी करना और हर छोटी बड़ी चीजों का बारीकी से अध्ययन करना आईएएस समेत तमाम प्रतियोगी परीक्षा में सफल होने के अनिवार्य है।

साथ ही जनसेवा और लोगों की समस्या समाधान के प्रति जागरूक होने की बात कही। आईएएस सत्यम गांधी ने कहा कि समय से सही दिशा में तैयारी के साथ मानसिक मजबूती भी आईएएस जैसे बड़े लक्ष्य को पाने के लिए महत्वपूर्ण है। इधर कार्यक्रम का मंच संचालन करते हुए जिला सांख्यिकी पदाधिकारी शंभु राय ने जिले के आईएएस अधिकारियों और आईएएस टॉपर्स की बातों को रेखांकित करते हुए

मौजूद प्रतियोगियों का मार्गदर्शन अपनी कविता के माध्यम से किया। बता दें कि इस कार्यक्रम के दौरान आईएएस टॉपर्स और छात्रों के बीच तैयारी से जुड़े कई संवाद भी हुए। मौके पर जिला प्रशासन के कई अधिकारी, कर्मी के अलावा काफी संख्या में प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने वाले विभिन्न संस्थानों से आए छात्र छात्रा मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments