रिपोर्ट – रवि शंकर सिन्हा/इशू राज 

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : भागलपुर के नाथनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत उपर टोला नाथनगर निवासी मुन्ना प्रसाद साह की विवाहिता पुत्री और पुलिस विभाग में कार्यरत प्रीति कुमारी ने   अपने पति समेत ससुराल पक्ष के लोगों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना और जिंदा जलाकर हत्या करने का आरोप लगाया है। भागलपुर जेएलएनएमसीएच अस्पताल में इलाजरत पीड़िता प्रीति कुमारी ने इसको लेकर नाथनगर थाना में मामला भी दर्ज कराया है। एक ओर जहां बिहार में दहेज प्रथा के खिलाफ कानून लागू है, वहीं पेशे से पुलिसकर्मी पीड़िता प्रीति पर ससुराल वालों द्वारा नौकरी छोड़ने का दबाव बनाते हुए उसे दहेज के नाम पर प्रताड़ित करना ना सिर्फ कानून बल्कि सामाजिक और पारिवारिक मर्यादाओं का भी उल्लंघन है। दरअसल मामला बीते बुधवार का है, जिसमें पीड़िता ने अपने पति गोपाल कुमार साह, सास मीना देवी, ससुर दुर्गा साह, देवर कृष्ण कमल, समेत परिवार के संजय साह, ललिता देवी और कुंदन कुमार को भी आरोपी बनाया गया है। घटना को लेकर बेगूसराय जिला पुलिस में सिपाही के पद पर कार्यरत प्रीति कुमारी ने बताया कि उसका विवाह 25 फरवरी 2018 को नाथनगर के मनसकामना नाथ मंदिर रोड निवासी दुर्गा साह के पुत्र गोपाल कुमार साह से हुई थी। लेकिन उसके बाद से ससुराल वालों ने दहेज की मांग करते हुए मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करना शुरू कर दिया, जबकि नौकरी छोड़ने का भी उसपर लगातार दबाव बनाया जाता रहा। साथ ही कहा कि काफी विवाद के बाद हुए समझौते को दरकिनार करते हुए ससुराल वालों ने मिलकर हत्या की नियत से उसके शरीर पर किरोसिन डालकर आग के हवाले कर दिया। वहीं जहां एक ओर महिला का इलाज मायागंज अस्पताल में जारी है जबकि नाथनगर पुलिस मामले की छानबीन करते हुए आरोपियों पक्ष की गिरफ्तारी के लिए कार्यवाही तेज कर दी है। बता दें कि बिहार में जहां दहेज हिंसा के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, वहीं कुत्सित मानसिकता का परिचय देते हुए आज भी कई जगहों पर बेटियों और महिलाओं को घर की दहलीज के अंदर रखकर नौकरी और सरकारी सेवा से रोकने का काम किया जाता है, जो समाज और पारिवारिक व्यवस्था पर कई सवाल खड़े करती है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments