भागलपुरस्वास्थ्य

विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर भागलपुर में आईडीए ने लगाया शिविर, 15 मरीजों में मिले कैंसर के लक्षण

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : प्रत्येक वर्ष 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को तंबाकू से होने वाली घातक बीमारियों के बारे में जागरुक करना है।

शिविर में लोगों को जानकारी देते डॉक्टर

इधर विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर इंडियन डेंटल एसोसिएशन अंग प्रदेश, भागलपुर की ओर से घंटाघर चौक के समीप जागरूकता सह जांच शिविर का आयोजन किया गया। कैंप में दर्जनों लोगों के दंत एवं मुख की जांच की गई, जिसमें 15 मरीज वैसे मिले जिसमें कैंसर के प्रारंभिक लक्षण पाए गए।

कैंसर के प्रारंभिक लक्षण वाले सभी मरीज को आईडीए के डॉक्टरों ने मुफ्त चिकित्सा हेतु क्लीनिक में आने की बात कही। साथ ही गंभीर लक्षण वाले 5 मरीज को आयुष्मान कार्ड बनाने की सलाह दी। शिविर में डॉक्टर विनोद कुमार ने लोगों से तंबाकू छोड़ने की अपील की।

वहीं आईडीए के सचिव डॉ. जौहर साजिद और कोषाध्यक्ष डॉ. शुभांकर कुमार सिंह ने कहा कि वर्तमान समय में भारत में सबसे ज्यादा ओरल कैंसर के मरीज पाए जा रहे हैं। जिसका मुख्य कारण पान मसाला, गुटखा, सिगरेट, बीड़ी, खैनी और गुल है।

डॉ. जौहर साजिद, सचिव, आईडीए

डॉ. शुभांकर ने बताया कि तंबाकू के सेवन से दांत कमजोर पड़ जाते हैं और समय से पहले ही गिर जाते हैं।

डॉ. शुभांकर कुमार सिंह

अवेयरनेस कैंप में डॉ. गीतांजलि, डॉ. अजय भारती, डॉ. कृति प्रकाश तोमर समेत आईडीए से जुड़े कई चिकित्सक मौजूद थे। इधर वर्ल्ड नो टोबैको डे पर भागलपुर के प्रसिद्ध मुख एवं दंत रोग विशेषज्ञ डॉ. साकेत बिहारी शरण ने बताया कि तंबाकू सेहत को नुकसान पहुंचाता है। ये आंखों की रौशनी भी कम कर देता है। उन्होंने कहा कि तम्बाकू का सेवन फेफड़ों के लिए खतरनाक है।

डॉ. साकेत बिहारी शरण

डाॅ. एस. बी. शरण की माने तो करीब 35 प्रतिशत भारतीय किसी न किसी प्रकार से तंबाकू का इस्तेमाल करते हैं। वहीं शहर के दंत एवं पायरिया रोग विशेषज्ञ डॉ. अभिषेक सिन्हा ने बताया कि तम्बाकू का सेवन सिर्फ आपको ही नहीं, बल्कि अगली पीढ़ियों की सेहत के लिए भी नुकसानदायक है। इसलिए धूम्रपान कभी नहीं करना चाहिए।

डॉ. अभिषेक सिन्हा

डॉ. अभिषेक ने कहा कि धूम्रपान के कारण कैंसर होने का खतरा 20 गुणा बढ़ जाता है। उन्होंने बताया कि आजकल तंबाकू, सिगरेट और हुक्का पीने को युवा पीढ़ी अपना स्टेटस सिंबल मानने लगे हैं, लेकिन यह आदत उनके जीवन के लिए घातक है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर भागलपुर के मैक्सिलोफेशियल सर्जन डॉ. कुंदन साह ने कहा कि तंबाकू के सेवन से कई तरह की जानलेवा बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है।

डॉ. कुंदन साह

इनमें फेफड़े का कैंसर, लिवर कैंसर, मुंह का कैंसर, हृदय रोग जैसी कई गंभीर बीमारियां शामिल हैं। उन्होंने बताया कि मुंह में किसी प्रकार का घाव होने पर इसे हलके में ना लें। अगर कोई जख्म या घाव 14 दिनों में ठीक नहीं होता है तो डाक्टर से जरूर दिखाएं। ऐसे जख्म कैंसर के लक्षण भी हो सकते हैं, जिन्हें समय रहते पहचाने की जरूरत है। डॉ. कुंदन ने कहा कि अधिकतर लोग जानकारी के अभाव में एंटीबायोटिक एवं दर्द निवारक दवाओं का सेवन करते हैं। जिससे समस्या और बढ़ सकती है।

Silk Tv

Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button