Home भागलपुर वर्ल्ड अर्थराइटिस डे पर जागरुकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन, डॉ. मनोज बोले...

वर्ल्ड अर्थराइटिस डे पर जागरुकता कार्यक्रम का हुआ आयोजन, डॉ. मनोज बोले घुटनों में सूजन और जोड़ों में दर्द गठिया के संकेत

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : विश्व गठिया दिवस यानी वर्ल्ड अर्थराइटिस डे हर साल साल दुनिया भर में 12 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मकसद है लोग इस बीमारी के प्रति जागरूक हो सके। अर्थराइटिस कैसे और क्यों होता है। इससे कैसे बचा जा सकता है, इसको लेकर सोमवर को इप्का फार्मा द्वारा भागलपुर के आरबीएसएस रोड स्थित डॉ. मनोज कुमार चौधरी के क्लीनिक में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया।

वहीं हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. मनोज चौधरी ने बताया कि अर्थराइटिस में मानव शरीर के जोड़ों में सूजन और असहनीय दर्द होता है। साथ ही बताया कि यह बीमारी एक ही नहीं एक साथ कई जोड़ों को प्रभावित कर सकती है। उन्होने कहा कि गठिया से खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। कार्यक्रम में आर्थोपेडिक डॉ. चौधरी ने बताया कि गलत खानपान और व्यायाम के अभाव में गठिया रोग देश में तेजी से फैल रहा है। जिसके शिकार बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक हो रहें हैं।

उन्होंने जानकारी दी कि कम उम्र में गलत जीवन शैली अपनाने से यह बीमारी युवाओं को अपनी चपेट में ले रही है। अपने संबोधन से डॉ. मनोज ने इप्का फार्मा का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि समय समय पर इस तरह के कार्यक्रम होने से केवल जागरूकता ही नहीं फैलता बल्कि रोग से बचाव के लिए लोग प्रेरित भी होते हैं। इस दौरान उन्होंने लोगों से पौष्टिक भोजन लेने की अपील करते हुए घर की औरतों के खानपान पर विषेश ध्यान देने की बात कही। बताया कि अधिकतर गृहिणीयां अपने बच्चे, पति और घर के सभी सदस्यों को पौष्टिक भोजन तो जरूर करा देती है लेकिन वे खुद इससे वंचित रह जाती है।

जिस कारण उनके जोड़ों में दर्द होता है। अवेयरनेस प्रोग्राम में बिहार ऑर्थोपेडिक एसोसिएशन के प्रेसिडेंट डॉ. मनोज कुमार चौधरी ने हड्डी को मजबूत करने वाली नई दवाओं की जानकारी भी साझा की। मौके पर इप्का फार्मा के सीनियर एरिया बिजनेस मैनेजर अमर कुमार सिंह, विनीत कुमार समेत कई लोग मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments