बिहारभागलपुर

‘रेल की पटरियों पर दौड़ती कहानियां’ पुस्तक का हुआ लोकार्पण

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : भागलपुर के सुंदरवती महिला महाविद्यालय के प्रशाल में पूर्व जनसंपर्क उपनिदेशक शिव शंकर सिंह पारिजात एवं इतिहासकार प्रो. रमन सिन्हा द्वारा संयुक्त रूप से लिखित पुस्तक ‘रेल की पटरियों पर दौड़ती कहानियां’ का लोकार्पण हुआ।

जमालपुर, भागलपुर व साहबगंज से लेकर राजमहल-पाकुड़ तक के रेल पटरियों के अगल-बगल स्थित ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, पुरातात्विक, साहित्यिक व पर्यावरण से जुड़े स्थलों पर प्रकाश डालती अनामिका प्रकाशन, दिल्ली से प्रकाशित इस रोचक पुस्तक का लोकार्पण संयुक्त रूप से तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के प्रति-कुलपति प्रो. रमेश कुमार, नालंदा खुला विश्वविद्यालय, पटना के कुल सचिव डॉ. घनश्याम राय, तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के पी.जी. गांधी विचार विभाग के अध्यक्ष प्रो. विजय कुमार, विश्वविद्यालय के जनसंपर्क अधिकारी डॉ. दीपक कुमार दिनकर, महाविद्यालय के इतिहास विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. हिमांशु शेखर सहित प्राचार्य डॉ. रमन सिन्हा ने किया। इस अवसर पर पुस्तक के सह-लेखक डॉ. रमन सिन्हा ने कहा कि रेलवे का हमारे सामाजिक-आर्थिक व व्यक्तिगत जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है। रेल के माध्यम से इतिहास, संस्कृति, पुरातत्व एवं साहित्य की पड़ताल निश्चित रूप से एक अभिनव प्रयास कहा जायेगा।

इतिहासकार शिव शंकर सिंह पारिजात

वहीं पुस्तक के लेखक और खोजी इतिहासकार शिव शंकर सिंह पारिजात ने बताया कि मालदा रेल मंडल अंतर्गत स्थित क्षेत्र का विक्रमशिला हॉल्ट स्टेशन जहाँ विश्वप्रसिद्ध विक्रमशिला बौद्ध महाविहार को महिमा मंडित करता है, वहीं सुलतानगंज रेलवे स्टेशन निर्माण के दौरान विश्व की सबसे नायाब़ बुद्ध मूर्ति मिली थी जो आज इंग्लैंड के बर्मिंघम म्यूजियम की शोभा बढ़ा रहा है। वहीं जमालपुर रेल कारखाने के साथ नोवेल पुरस्कार विजेता रुडयार्ड किपलिंग का नाम जुड़ा है, तो राजमहल स्टेशन के राजा मानसिंह व शाह शूज़ा व शहजादा सलीम के दास्तान बयां कर रहा है। पाकुड़ स्टेशन के करीब स्थित मार्टिलो टावर संताल विद्रोह का एकमात्र स्थूल साक्षी है। इन सबकी चर्चा इस किताब में है।

Silk Tv

Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button