Home बिहार राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर DRDA में हुआ परिचर्चा का आयोजन, अधिकारियों और...

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर DRDA में हुआ परिचर्चा का आयोजन, अधिकारियों और पत्रकारों ने रखे अपने विचार….

रिपोर्ट – रवि शंकर सिन्हा

सिल्क टीवी भागलपुर (बिहार) :राष्ट्रीय प्रेस दिवस के अवसर पर मंगलवार को भागलपुर डीआरडीए में जिला प्रशासन की ओर से परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस वर्ष प्रेस दिवस कार्यक्रम में  “Who is not Afraid of Media”  विषय पर परिचर्चा आयोजित हुई, जिसमें जिला प्रशासन के अधिकारियों ने तमाम पत्रकारों को राष्ट्रीय प्रेस दिवस की शुभकामना दी, और परिचर्चा के विषय पर अपनी बात रखी।

इससे पूर्व जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन, एडीएम राजेश झा राजा, आयुक्त के सचिव वारिस खान, समेत कई पत्रकारों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की। डीएम सुब्रत कुमार सेन ने राष्ट्रीय प्रेस को लेकर पत्रकारों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश के मजबूत स्तम्भ मीडिया की भूमिका सरकार के साथ हर क्षेत्र में काफी बढ़ गई है, और इसे नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है।

साथ ही उन्होंने परिचर्चा के विषय पर भी अपनी विचार राखी। वहीं कार्यक्रम में अलग अलग मीडिया संस्थानों के प्रतिनिधि और विभिन्न माध्यमों से जुड़े मीडिया कर्मियों ने सबों को प्रेस दिवस की शुभकामना देते हुए, अपनी समस्या और सुझाव कार्यक्रम में साँझा किया। इस दौरान अपर समाहर्ता राजेश झा राजा ने कहा कि ‘मीडिया से कौन नहीं डरता है’ का सवाल सभी के लिए सोचने का विषय है, लेकिन एक ओर जहां गलत कार्य करने वाले को मीडिया से डरने की बात कही जाती है, वहीं जो लोग अपनी जिम्मदारी से पीछे हटकर अपने कर्तव्यों का ठीक ढंग से निर्वहन नहीं करते है, उनके मन में मीडिया का भय होता है।

एडीएम ने पत्रकारों के सुझाव पर जिले के सभी विभाग के पदाधिकारियों के साथ तमाम मान्यता प्राप्त मीडिया संस्थान से जुड़े पत्रकारों का डाटा बेस तैयार करने और जिला प्रशासन की ओर से पत्रकारों पहचान पत्र जारी करने पर विचार करने की बात कही। कार्यक्रम में आयुक्त के सचिव वारिस खान ने भी अपनी बात रखते हुए कहा कि समय के साथ जहां मीडिया की भूमिका और दायित्व बढ़ा है, वहीं कई कारणों से मीडिया ने अपना सम्मान भी खोया है, जिसपर गंभीरता से सोचने के साथ सेंसेशनल ख़बरों की बजाय आम लोगों और सामाजिक सुधार से जुड़े आवश्यक ख़बरों को प्राथमिकता देने की जरुरत है।

कई पत्रकारों ने मीडिया कर्मियों की सुरक्षा और सुविधाओं के अभाव पर सवाल उठाया, जबकि कुछ लोगों ने अधिकारी और दबंगों के दबाव के कारण पत्रकारों को भी भयभीत होने की बात कही। परिचर्चा का संचालन जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी आलोक कुमार ने करते हुए कहा कि आने वाले दिनों में पत्रकारों की समस्या और सुझाव पर अधिकारियों के साथ विचार विमर्श कर उचित प्रयास किया जाएगा, जिससे कार्यपालिका के साथ लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया का भी सम्मान बना रहे। मौके पर नगर आयुक्त प्रफुल्ल चन्द्र यादव, डीटीओ फिरोज अख्तर के अलावा जिले के विभिन्न क्षेत्रों से आये प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक, डिजिटल, और वेब मीडिया के प्रतिनिधि मौजूद रहे।       

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments