Home स्वास्थ्य युवाओं में बढ़ रहा है मानसिक तनाव : डॉ. नीरज सर्राफ

युवाओं में बढ़ रहा है मानसिक तनाव : डॉ. नीरज सर्राफ

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार ):कोरोना काल में तनाव और हाइपरटेंशन के मामले बढ़ रहे हैं। चिकित्सकों की माने, तो पिछले दो महीने में रोजाना मानसिक तनाव के शिकार होने वाले मरीज उनसे संपर्क कर रहे हैं। चौंकाने वाली बात ये है कि इसके शिकार महिला और युवा भी हो रहे हैं। चिकित्सक इसका सीधा कारण कोविड काल में पनपे मानसिक तनाव को मान रहे हैं और यही वजह है कि निरंतर चिकित्सक मानसिक तनाव और चिंता से दूर रहने की सलाह दे रहे हैं। वहीं कोरोना काल में युवा वर्ग तनाव से कैसे मुक्त रहे इसको लेकर हमने बात की भागलपुर पटल बाबू रोड स्थित एडवांस न्यूरो सेंटर के संचालक डॉ. नीरज सर्राफ से। जहां उन्होंने बताया कि पिछले दिनों उनके पास तनाव से जुड़े कई मामले आए जिनमें सबसे ज्यादा संख्या युवाओं की थी। न्यूरो फिजिशियन डॉ. नीरज सर्राफ ने कहा कि कोविड के चलते फिजिकल गतिविधि कम होने और नेगेटिव सोच की वजह से यह समस्या अधिक पनप रही है। उन्होंने बताया कि तनाव सभी को होता है, फिर चाहे वे मरीज हों या उनके परिजन लेकिन सभी का तनाव भी अलग-अलग स्तर का होता है। इससे बचने के लिए लोगों को परिवार के साथ समाज को भी समय देना चाहिए। डॉ. नीरज सर्राफ की माने तो कोरोना की स्थिति में बहुत सारी गतिविधियां ठहर सी गई हैं और इसके लिए जरूरी है कि अपनी दिनचर्या में बदलाव लाएं। साथ ही टीवी, अखबार और सोशल मीडिया में सिर्फ कोरोना के बारे में देखने-समझने और अपनो से सिर्फ उसी बारे में बात करने से बचें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments