Home भागलपुर महंगाई, निजीकरण और मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ BMS ने किया देशव्यापी...

महंगाई, निजीकरण और मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ BMS ने किया देशव्यापी विरोध प्रदर्शन, कहा – पेट्रोल-डीजल पर भी लगे जीएसटी….

रिपोर्ट- रवि शंकर सिन्हा 

सिल्क टीवी/भागलपुर : भारतीय मजदूर संघ के केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर देशव्यापी विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम के तहत गुरुवार को भागलपुर जिला इकाई की ओर से प्रदर्शन जुलूस निकाला गया। भागलपुर स्टेशन चौक से निकाला गया विरोध प्रदर्शन जुलूस शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष पहुंचा, और देश में लगातार बढ़ती महंगाई को लेकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस दौरान भारतीय मजदूर संघ के प्रतिनिधिमंडल ने बेतहाशा महंगाई पर रोक लगाने की मांग करते हुए जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

प्रदर्शन कर रहे है मजदूर संघ के नेताओं के साथ काफी संख्या में शामिल मजदूरों ने सरकार से एलपीजी गैस मूल्य वृद्धि पर रोक लगाने, पेट्रोल, डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने एवं खाद्य सामग्री समेत अन्य वस्तुओं पर लागत मूल्य अंकित करने करते हुए जमकर नारेबाजी की। इसके अलावा रेलवे के साथ अन्य सम्बद्धित औद्योगिक इकाइयों को बेचने और निजीकरण करने पर रोक लगाने की मांग की। वहीं प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भारतीय मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष राजेश लाल कहा कि केंद्र सरकार अन्य वस्तुओं की तरह पेट्रोल-डीज़ल को भी जीएसटी के दायरे में लाये, जिससे राज्य और केंद्र के द्वारा अलग अलग टैक्स की परेशानी से लोगों को राहत मिल सके।

प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेश कुमार ने कहा कि BMS मजदूरों के हित में हमेशा आवाज उठाते रहेगा। जबकि संघ के जिला मंत्री चितरंजन पांडेय ने कहा कि भारतीय मजदूर संघ बीजेपी का अनुषांगिक संगठन है, लेकिन मजदूर और देश हित के मुद्दे पर सरकार की गलत नीतियों का खुलकर विरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकारी संपत्तियों को बेचना और सरकारी उपक्रमों का निजीकरण करना मजदूर और देश विरोधी है, इसलिए भारतीय मजदूर संघ  केंद्र सरकार से पेट्रोल डीज़ल पर GST लागु करने के साथ महंगाई पर अविलम्ब रोक लगाने की मांग करती है। मौके पर राकेश पटेल, सज्जन सिन्हा, शुभेन्दु, प्रकाश चंद्र झा, रंजीत गुप्ता समेतऔर भवन एवं पथ निर्माण मजदूर संघ सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments