Home भागलपुर ब्रैस्ट कैंसर अवेयरनेस को लेकर निकाली गई जागरूकता रैली, कैंसर स्क्रीनिंग और...

ब्रैस्ट कैंसर अवेयरनेस को लेकर निकाली गई जागरूकता रैली, कैंसर स्क्रीनिंग और जागरूकता अभियान की हुई शुरुआत….

रिपोर्ट – रवि शंकर सिन्हा

सिल्क टीवी भागलपुर (बिहार) : टाटा स्मारक केंद्र मुंबई की इकाई होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र मुजफ्फरपुर की ओर से कैंसर स्क्रीनिंग और जागरूकता अभियान की शुरुआत बिहार के 16 जिलों में की गई है। बिहार में पहली बार जनसंख्या आधारित कैंसर का पता लगाने पर यह जानकारी मिली है, कि मुँह के कैंसर मरीजों की संख्या सर्वाधिक है। जबकि इसके बाद महिलाओं में गर्भाशय कैंसर और स्तन कैंसर के सर्वाधिक मामले पाए गए है।

रिपोर्ट के अनुसार भारत में प्रतिवर्ष 1 लाख 56 हज़ार महिलाएं स्तन कैंसर से पीड़ित होती है, जिसमें से हर साल 76 हज़ार महिलाओं की मृत्यु हो जाती है। जबकि गर्भाशय के मुख के कैंसर से देश में प्रतिवर्ष 1 लाख 32 हज़ार पीड़ित में से 63 हज़ार मरीज की मौत हो जाती है। जबकि तम्बाकू सेवन के कारण भारत में 2 लाख 50 हज़ार पीड़ित होते है, और प्रतिदिन 22 सौ लोगों की मृत्यु तम्बाकू सेवन से होने वाली बीमारियों के कारण होती है। इसमें से ज्यादातर मौत बिहार में होती है।होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल एवं अनुसंधान केंद्र मुजफ्फरपुर के प्रभारी डॉ रविकांत सिंह ने कहा कि भारतवर्ष का 75 वां स्वतंत्रता दिवस है और कैंसर से राहत के लिए हमने प्रण लिया है, कि हम अस्पताल के साथ काम करेंगे जिससे “कैंसर से आज़ादी और राहत की शुरुआत हो सके अभी यह स्क्रीनिंग प्रोग्राम 16 जिलों में शुरू हो चुकी है, जिसमें मुज्जफरपुर, नालंदा, सिवान, भोजपुर, वैशाली, दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, भागलपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, पटना, गया, औरंगाबाद, बक्सर और जहानाबाद शामिल है। इसको लेकर शुक्रवार को भागलपुर सदर अस्पताल परिसर से होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल एवं अनुसंधान केंद्र मुजफ्फरपुर की ओर से ब्रैस्ट कैंसर अवेयरनेस रैली निकाली गई।

इस दौरान स्तन कैंसर से बचाव के लिए जागरूक करते हुए ANM स्कूल की छात्राओं ने नारेबाजी की और आम लोगों से कैंसर से बचाव के प्रति जागरूक होने की अपील की। वहीं संस्था के प्रतिनिधि ने कहा कि बिहार के 16 जिलों में बिहार सरकार, REC फाउंडेशन, नेशनल हेल्थ मिशन और परमाणु ऊर्जा विभाग के साथ मिलकर कैंसर स्क्रीनिंग और जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है,

जिससे कैंसर के लक्षण की समय रहते पहचान करके इससे होने वाली मृत्यु दर को कम किया जा सकता है। साथ ही कहा कि अगर तीनों प्रकार के कैंसर का इलाज समय से शुरू हो जाये तो बिहार में कैंसर के मामले में 70 प्रतिशत कमी आ सकती है। रैली का नेतृत्व डॉ प्रशांत राहुल और डॉ स्नेहिल स्नेहा ने किया, जबकि इस दौरान लोकनायक जयप्रकाश नारायण सदर अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ ए के मंडल, अस्पताल प्रबंधक जावेद मंसूर, ए एन एम स्कूल की छात्राएं और स्वास्थ्य कर्मी मौजूद रहे। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments