Home बिहार बिहार में कोरोना पीड़ित की मौत पर बिहार सरकार देती है 4...

बिहार में कोरोना पीड़ित की मौत पर बिहार सरकार देती है 4 लाख रुपये का मुआवजा,लोग जानकारी के अभाव में नहीं ले पाते ये लाभ…

  • बिहार में कोरोना से मौत पर 4 लाख रुपये मुआवजे का प्रावधान
  • जानकारी के अभाव में कई लोगों को मुआवजा लेने में देरी
  • आवेदन के 24 घंटे के अंदर किया जाता है मुआवजे का भुगतान

बिहार में कोरोना के पॉजिटिव केस में कमी तो आई है लेकिन मौत के आंकड़े कम नहीं हो रहे। 50 से ज्यादा पीड़ितों की मौत रोज हो रही है। लेकिन कई लोगों को मालूम नहीं है कि कोरोना से मौत पर बिहार में मुआवजे का भी प्रावधान है। अगर किसी को मालूम भी है तो उन्हें प्रक्रिया नहीं पता। बिहार में कोरोना से मौत पर सरकार आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत 4 लाख रुपये का मुआवजा देती है। ये मुआवजा मृतकों के आश्रित (पिता / माता/ पति/पत्नी/ बेटे/ बेटी) के खाते में जमा कराया जाता है। कोरोना के बिहार में आने के साथ ही सरकार ने इसे महामारी को आपदा की श्रेणी में रख लिया था। मुंगेर में बिहार से कोरोना की पहली मौत हुई थी और मृतक के परिवार को मुआवजे का चेक उनके घर पर उपलब्ध कराया गया था।

मुआवजे की प्रक्रिया
बिहार सरकार से कोरोना से मौत पर मुआवजे की रकम लेने के लिए सिर्फ कोरोना से मौत का प्रमाण पत्र, आवासीय प्रमाण पत्र और बैंक पासबुक की फोटोकॉपी होना जरूरी है। प्रक्रिया कोरोना पीड़ित की मौत के साथ ही शुरू हो जाती है।

  • कोरोना पॉजिटिव की मौत होने पर मुआवजे के लिए आपदा विभाग या संबंधित सीओ के यहां आवेदन किया जाता है।
  • आवेदन दोनों में से किसी भी एक स्थान पर किया जा सकता है।
  • आवेदन के साथ कुछ दस्तावेज की आवश्यकता होती है ।
  • कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद सिविल सर्जन संबंधित अंचलाधिकारी यानि सीओ को मौत की रिपोर्ट भेजते हैं।
  • इसमें कोरोना से मौत का प्रमाण-पत्र के अलावा आवासीय प्रमाण पत्र तथा आश्रित के पासबुक की फोटोकाॅपी शामिल है।
  • आवेदन के 24 घंटे के अंदर आपदा प्रबंधन विभाग कागजी प्रक्रिया पूरी कर आश्रित को 4 लाख रुपये का भुगतान चेक से कर देती है।

बिहार में कोरोना वायरस की रफ्तार धीरे-धीरे कमजोर पड़ रही है। रविवार को सूबे में 6,894 नए मामले सामने आए। राहत की बात ये है कि एक दिन में सामने आने वाले नए केस की संख्या में कमी आना जारी है। मरीजों के ठीक होने की दर में सुधार हो रहा है और संक्रमण दर भी कम हो रही है। हालांकि, पिछले 24 घंटे में मृत्यु दर में 21 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है। रविवार को कोविड-19 से 89 और मरीजों की मौत हो गई। जिससे राज्य में मृतकों संख्या बढ़कर 3,832 हो गई। राजधानी पटना में रविवार को इस खतरनाक महामारी से 18 और मौतें हुईं, पूर्वी चंपारण में 14, नालंदा में छह, मुजफ्फरपुर और भागलपुर में पांच-पांच और मधेपुरा में चार मौतें हुईं। NMCH-पटना में पांच मरीजों मौतें हुई हैं। एम्स-पटना में 11 और कोविड मरीजों की मौत हुई है, जिनमें पटना के आठ और सारण, समस्तीपुर और मधुबनी के एक-एक मरीज शामिल हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इस महीने की शुरूआत से अभी तक राज्य में एक हजार से अधिक मरीजों की संक्रमण से जान गई है। इस बीच पिछले कई हफ्ते के बाद पहली बार राज्य में नए मामलों की संख्या सात हजार से कम रही। विभाग ने बताया कि अबतक 5.72 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं जबकि इलाज करा रहे मरीजों की संख्या कम होकर 75,089 हो गई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments