Home कृषि बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर ने मनाया 12वां स्थापना दिवस, कुलाधिपति ने कहा...

बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर ने मनाया 12वां स्थापना दिवस, कुलाधिपति ने कहा स्वरोजगार परक शिक्षा को दें बढ़ावा…

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : बिहार कृषि विश्वविद्यालय सबौर में गुरुवार को 12वां स्थापना दिवस मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता BAU के कुलपति डा. अरुण कुमार ने की। वहीं स्थापना दिवस समारोह और दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी को लेकर विश्वविद्यालय परिसर में उत्सवी माहौल देखा गया। इस दौरान पूर्वी भारत में नई पीढ़ी के लिए बागवानी विषय पर आयोजित संगोष्ठी में कई वैज्ञानिक और शोधार्थियों ने हिस्सा लिया। इसके पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन कुलाधिपति फागू चौहान ने वर्चुअल माध्यम से किया। अपने संबोधन में राज्यपाल फागू चौहान ने बीएयू के 12 वें स्थापना दिवस पर बधाई और शुभकामनाएं दी। कुलाधिपति ने कहा कि अनुसंधान, प्रसार और शिक्षण कार्य में बीएयू ने बेहतर काम किया है। जबकि भागलपुर की प्रसिद्ध कतरनी धान, शाही लीची, जर्दालू आम, मखाना और सब्जी उत्पादन सहित कई विशिष्ट उत्पादों का भी जिक्र राज्यपाल ने अपने सम्बोधन में किया। इस दौरान राज्यपाल फागू चौहान ने कौशल विकास प्रशिक्षण और स्वरोजगार परक शिक्षा को लेकर बीएयू के प्रयासों की सराहना की। स्थापना दिवस के अवसर पर कुलाधिपति ने विश्वविद्यालय के आवासीय परिसर में बने मार्केटिंग कॉम्प्लेक्स, अस्पताल और ऑफिसर्स क्लब के नए भवन का उद्घाटन भी डिजिटल माध्यम से किया। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के उप महानिदेशक उद्यान डा. आनंद कुमार सिंह और तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता मौजूद रहीं। इस दौरान टीएमबीयू और बीएयू के बीच हुए MOU पर कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता, डॉ. अरुण कुमार, टीएमबीयू के रजिस्ट्रार डॉ. निरंजन प्रसाद यादव और बीएयू के कुलसचिव एम. हक ने हस्ताक्षर किया। अधिकारियों ने बताया कि दोनों विश्वविद्यालय के बीच मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग होने से रिसर्च को काफी बढ़ावा मिलेगा। समारोह में धन्यवाद ज्ञापन कृषि विश्वविद्यालय सबौर के सह-निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. आर एन सिंह ने किया। बता दें कि समारोह में बीएयू के अब तक की उपलब्धियों और ऐतिहासिक महत्व पर भी वक्ताओं ने विस्तारपूर्वक चर्चा की। मौके पर टीएमबीयू के एकेडमिक डीन प्रो. अशोक ठाकुर, वैज्ञानिक डॉ. एच के रसिया, डॉ. फिजा अहमद, पीआरओ डॉ. शशिकांत, डॉ. दीपक कुमार दिनकर समेत कई विशेषज्ञ उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments