Home बिहार बारिश के कारण धान की फसल बर्बाद, किसानों के चेहरे पर छायी...

बारिश के कारण धान की फसल बर्बाद, किसानों के चेहरे पर छायी मायूसी….

बालकृष्ण कुमार

कहलगांव /संवाददाता :तीन दिनों से हो रही क्षेत्र में लगातार बारिश के कारण सनहला प्रखंड में 9850 हेक्टेयर में लगी धान की फसल बर्बाद हो गया है जिससे कि यहां के किसानों चेहरे पर मायूसी छायी हुई है क्षेत्र के फरीदमपुर गांव के समाज सेवी डॉ गणेश दत्त सिंह ने कहा कि क्षेत्र के किसानों काफी मेहनत मजदूरी कर साहूकार से पैसा ब्याज पर पैसा लेकर धान की फसल की बुआई की थी लेकिन 3 दिनों से हो रही लगातार बारिश के कारण खेत में लगी धान की पकी फसल खेत में गिर कर बर्बाद हो गया फरीदमपुर पैक्स अध्यक्ष चंदन कुमार ने कहा कि इस वर्ष धान फसल की उपज अच्छी होनी की काफी उम्मीद थी

लेकिन बेमौसम बारिश के कारण खेत में खडी धान की फसल बारिश के कारण खेत में गिर गया जिससे धान की उपज जितनी होनी चाहिए उतना नहीं होगा सनहौला प्रखंड क्षेत्र में धान की खेती आसमानी वर्षा पर निर्भर होती है इस बार समय पर बारिश होने के कारण खेत में धान की फसल अच्छी लगी थी लेकिन बारिश के कारण सब बर्बाद हो गया बता दें कि सनहौला प्रखंड क्षेत्र में सालभर में एक मात्र धान की फसल होती है क्योंकि सनहौला प्रखंड में सिचाई की सुविधा नहीं है तलाब नदी नहर में अगर बारिश का पानी ठहरा तो कहीं कहीं गेहूं की बुआई के साथ साथ अन्य रबि फसल मटर, चना, सरसों, उपज हो जाती है प्रखंड के सभी किसानों ने धान की फसल दस से पन्द्रह दिनों में कटाई प्रारंभ होने बाला था लेकिन बारिश के कारण सब बर्बाद हो गया इसलिए बिहार सरकार हमलोगों को धान की क्षति पूर्ति का मुआवजा दें ताकि हमलोगों कुछ राहत मिल सके सनहौला प्रखंड कृषि पदाधिकारी विनय शंकर ने कहा कि सरकारी दिशानिर्देश मिलने के बाद किसानों के खेतों पर जाकर फसल की फोटोग्राफी कर उचित मुआवजा देने की हरसंभव प्रयास करेंग।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments