Home बिहार पुस्तक बेसिक कॉन्सेप्ट ऑफ मैथ का हुआ विमोचन, प्रतिकुलपति ने कहा भागलपुर...

पुस्तक बेसिक कॉन्सेप्ट ऑफ मैथ का हुआ विमोचन, प्रतिकुलपति ने कहा भागलपुर के आइंस्टीन थे इरशाद आलम….

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : कहते हैं प्रतिभा किसी पहचान की मोहताज नहीं होती है और न ही उसे मंजिल तक पहुंचने से कोई रोक सकता है। जी हां, कुछ ऐसा ही सिद्ध कर दिखाया था, भागलपुर के तातारपुर इलाके में रहने वाले गणित के विद्वान शिक्षक इरशाद आलम ने। अपनी लगन, तार्किक बुद्धि और गणित के स्पष्ट बेसिक कॉन्सेप्ट की वजह से इरशाद आलम न केवल बिहार बल्कि देशभर के छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय थे।

साथ ही उन्होंने छात्रों को आसान तरीके से गणित पढ़ाने और समझाने के लिए पुस्तक भी लिखी थी, लेकिन इसी बीच उनका आकस्मिक निधन हो गया। वहीं दिवंगत शिक्षक के ड्रीम को साकार करने के लिए उनकी पत्नी तरन्नुम फिरोज और टीम से जुड़े सदस्यों ने इरशाद पब्लिकेशन प्राइवेट लिमिटेड को पंजीकृत कराकर मिसाल कायम कर दिया। इधर शनिवार को तातारपुर स्थित Comprehensive Mathematics Centre में मोहम्मद इरशाद आलम द्वारा लिखित पहली पुस्तक बेसिक कॉन्सेप्ट ऑफ मैथ को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया।

इस दौरान पुस्तक का लोकार्पण तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. रमेश कुमार, जनसंपर्क पदाधिकारी डॉ. दीपक कुमार दिनकर, इरशाद पब्लिकेशन की निदेशक तरन्नुम फिरोज, एचआर तहेरूल इस्लाम, शिक्षक राकेश कुमार, जेपी उजाला और आगत अतिथियों ने संयुक्त रूप से किया। इसके पूर्व दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

जबकि अतिथियों का स्वागत इबरार हुसैन, नसर फिरोज और अंकित कुमार ने बुके देकर किया। वहीं अपने संबोधन में टीएमबीयू के प्रति कुलपति प्रो. रमेश कुमार ने पब्लिकेशन शुरू करने पर टीम से जुड़े सदस्यों को बधाई दी। साथ ही उन्होंने वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन की लिखी कॉपियों पर विश्व में हो रहे रिसर्च पर प्रकाश डाला। प्रति कुलपति ने कहा कि इरशाद आलम भागलपुर के आइंस्टीन थे।

क्योंकि उनकी लिखी पुस्तक में मैथ के कॉन्सेप्ट और फार्मूले बिल्कुल स्पष्ट और आसन प्रकार से समझाए गए हैं। मौके पर प्रो. रमेश ने नई शिक्षा नीति पर भी चर्चा की। वहीं पीआरओ डॉ. दीपक कुमार दिनकर ने कहा कि शिक्षक का पेशा विश्व में सबसे बड़ा और सम्मान का पेशा है। शिक्षक समाज के दर्पण होते हैं। डॉ. दिनकर ने अपने संबोधन में पुस्तक के पहले एडिशन में रह गई त्रुटियों पर भी सबों का ध्यान आकृष्ट कराया।

साथ ही उन्होंने इरशाद आलम की पुस्तक को स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी बताया। इधर भागलपुर के सिटी एसपी स्वर्ण प्रभात ने पुस्तक विमोचन पर इरशाद पब्लिकेशन को शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन करते हुए अंकित कुमार ने कहा कि जल्द ही इरशाद पब्लिकेशन की अन्य पुस्तकें भी लांच की जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments