Home अपराध पत्थर कारोबारी ने पत्नी और डेढ़ माह की बच्ची को 3 दिनों...

पत्थर कारोबारी ने पत्नी और डेढ़ माह की बच्ची को 3 दिनों तक भूखे-प्यासे कमरे में बंद रखा, मासूम को छत से फेंकने की दी धमकी..

डिप्रेशन में आ चुके पत्थर कारोबारी अजय कुमार दुबे ने अपनी पत्नी पिंकी कुमारी एवं डेढ़ माह की बच्ची को तीन दिनों तक भूखे-प्यासे अपने घर के एक कमरे में बंद कर रखा। यह घटना झारखंड के दुमका शहर के एलआईसी कॉलोनी की है। सोमवार की शाम में महिला पिंकी कुमारी ने अपने मायके पटना के नौबतपुर थाना के डुमरचक में अपने पिता को फोन से सूचित किया। उसके पिता पिता अजय उपाध्याय और भाई विकास उपाध्याय अपने सगे-संबंधियों के साथ नौबतपुर से रात में ही चले और  मंगलवार को सुबह में दुमका पहुंचे। बेटी की ससुराल गए। दामाद अजय कुमार दुबे न केवल दरवाजे खोलने से इंकार कर दिया बल्कि दामाद ने यह धमकी भी दी कि जबरन अंदर घूसे तो बच्ची को छत से फेंक देंगे। तब नगर थाना की पुलिस को सूचित किया गया। नगर थाना प्रभारी देवव्रत पोद्दार दलबल लेकर पहुंचे पर अजय दुबे ने दरवाजा नहीं खोला। नगर थाना की पुलिस वापस लौट आई।महिला थाना प्रभारी श्वेता कुमारी महिला कांस्टेबल के साथ एलआईसी कॉलोनी पहुंची। महिला थाना प्रभारी श्वेता कुमारी किसी तरह अजय कुमार दुबे को समझा कर घर के दरवाजे को खुलवाया। दरवाजा खोलने के बाद अजय कुमार दुबे बाहर आया तो पुलिस के समक्ष रोने लगा। महिला थाना की पुलिस उसे समझा-बुझा कर वापस लौट गई। मामले में कोई कानूनी कार्रवाई नहीं हुई है।पिंकी कुमारी के पिता अजय उपाध्याय ने बताया कि उनकी बेटी की शादी 2016 में बड़े ही धूमधाम से हुई थी। दामाद अजय दुबे का पत्थर का कारोबार है। उसके पिता सुरेन्द्र द्विवेदी जिला खनन विभाग में हेड क्लर्क पद से सेवानिवृत हो चुके है। अभी वे गांव गए हैं।  घर पर केवल दम्पति व डेढ़ माह की बच्ची ही थी।

एलआईसी कॉलोनी मुहल्ले में एक युवक के द्वारा पत्नी एवं बच्चे को एक कमरे में बंद कर दिए जाने की सूचना मिली। युवक को समझाने-बुझाने पर वह दरवाजे को खोल दिया। वह काफी दुखी है और डिप्रेशन की वजह से ऐसी हरकत कर रहा था। उसे मेंटल ट्रीटमेंट की जरुरत है। उसने अपनी पत्नी एवं बच्ची को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है। इसलिए समझा-बुझाकर पुलिस लौट आई है।

– श्वेता कुमारी,थाना प्रभारी,महिला थाना

बहन पिंकी कुमारी को उसके पति अजय दुबे के द्वारा एक कमरे में बंद कर दिए जाने की सूचना मिली। पिता एवं अन्य सगे-संबंधियों के साथ अपनी बहन के घर पहुंचे तो अजय दुबे ने कहा कि घर के अंदर आने पर वे बच्ची को छत से फेंक देने की धमकी देने लगा। तब हमलोगों ने पुलिस का सहारा लिया। पुलिस उसे समझा रही है। हमलोग चाहते हैं कि परिवार अच्छा से रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

गुमनाम चिट्ठी की जाँच करने तीन सदस्यीय कमेटी पहुंची मुरारका कॉलेज

रिपोर्ट- सैयद इनाम उद्दीनतिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में प्रभारी कुलपति का सिलसिला शुरू होने के बाद विश्विविद्यालय की...

भागलपुर के टीएनबी कॉलेज में 23 ‘मुन्ना भाई’ एक साथ पकड़े गए

रिपोर्ट- सैयद इनाम उद्दीन, इशू राजबिहार बोर्ड की इंटरमीडिएट परीक्षा में भागलपुर के एक कॉलेज से 23 'मुन्ना...

नगर निगम कचरा उठाव वाहन में डीजल नहीं,शहर की सफाई व्यवस्था चरमराई

रिपोर्ट-सैयद इनाम उद्दीनएक तरफ़ स्मार्ट सिटी को स्वच्छता सर्वेक्षण में अच्छी रैंकिंग दिलाने के लिए निगम प्रशासन की...

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में सिंडिकेट की बैठक मंगलवार को लालबाग स्थित कुलपति के आवासीय कार्यालय में हुई

रिपोर्ट-  सैयद इनाम उद्दीनतिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में सिंडिकेट की बैठक मंगलवार को लालबाग स्थित कुलपति के आवासीय कार्यालय...

Recent Comments