Home बिहार नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, बिहार में अब ठेकेदारों को देना होगा...

नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, बिहार में अब ठेकेदारों को देना होगा कैरेक्टर सर्टिफिकेट..

राज्य में जितने भी सरकार के क़न्ट्रेक्ट हैं उसमें कॉन्ट्रेक्टरों को निश्चित रुप से चरित्र प्रमाण पत्र लेना पड़ेगा.इसके अलावा वैसे कॉन्ट्रेक्ट जिसमें पब्लिक हैंडलिंग होती है वैसे सभी टेंडर में ठेकेदारी लेने वाले लोगों को और काम करने वाले सभी लोगों के लिए अब चरित्र प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होगा.

बिहार से जुड़ी बड़ी खबर राजधानी पटना से सामने आ रही है. राज्य में जितने भी सरकार के क़न्ट्रेक्ट हैं उसमें कॉन्ट्रेक्टरों को निश्चित रुप से चरित्र प्रमाण पत्र लेना पड़ेगा.इसके अलावा वैसे कॉन्ट्रेक्ट जिसमें पब्लिक हैंडलिंग होती है जैसे बस स्टॉप, सब्जी मंडी जिसमें पब्लिक को हैंडल करना पड़ता है वैसे सभी टेंडर में ठेकेदारी लेने वाले लोगों को और काम करने वाले सभी लोगों के लिए अब चरित्र प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होगा.साथ हीं वहां काम करने वाले हर कर्मचारी को अब आई कार्ड भी अनिवार्य रुप से देना होगा.दो दिन पहले हीं बिहार के डीजीपी एस के सिंघल ने रुपेश की हत्या के तार पार्किंग ठेकेदारी विवाद से जुड़े होने की आशंका जताई थी. अब ये माना जा रहा है कि इन्ही घटनाओं को ध्यान में ऱखकर सरकार ने यह फैसला लिया है.वैसे मुख्य सचिव की माने तो यह परंपरा पहले से हीं रही है अब इसका सख्ती से पालन करवाया जाएगा.

पटना में राज्य के मुख्य सचिव दीपक कुमार, गृह विभाग के सचिव आमिर सुबहानी और पुलिस महानिदेशक एसके सिंघल की मीटिंग में यह बड़ा निर्णय लिया गया है कि अगर किसी भी ठेकेदार को पब्लिक हैंडलिंग का टेंडर लेना है तो उसे पहले अपने जिले के पुलिस अधीक्षक या वरीय पुलिस अधीक्षक के पास चरित्र प्रमाण पत्र जमा करना होगा. कैरेक्टर सर्टिफिकेट के वेरिफिकेशन के बाद ही किसी भी ठेकेदार को टेंडर अलॉट किया जायेगा. सरकार के इस बड़े फैसले के मुताबिक पब्लिक से जुड़े ठेके में जितने भी कर्मचारी काम मे लगाए जाएंगे, ठेकेदार को उनका भी चरित्र प्रमाण-पत्र भी सरकार को देना होगा. हम आपको बता दें कि मंगलवार को बिहार के डीजीपी एसके सिंघल ने रुपेश सिंह हत्याकांड में इस बात की आशंका जताई थी कि एयरपोर्ट पर पार्किंग के टेंडर को लेकर हुए विवाद में इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया होगा. हालांकि इस मर्डर केस में पुलिस अन्य ठेके के मामलों की भी पड़ताल कर रही हैकरीब 40 मिनट चली बैठक के बाद मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि बैठक में मुख्य रूप से ठेके को लेकर होने वाले विवाद पर चर्चा हुई. सरकार ने फैसला किया है कि अब सभी तरह के ठेकेदार को सरकारी कॉन्ट्रेक्ट हासिल करने के लिए आरक्षी अधीक्षक कार्यालय से जारी चरित्र प्रमाण-पत्र देना आवश्यक होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बेखौफ अपराधियों ने दिन-दहाड़े कार सवार को गोलियों से भूना

 अंजनी ओम कटिहार : जिले में अपराधी बेलगाम हो गए हैं. इन अपराधियों को पुलिस प्रशासन का बिल्कुल भी...

मधुसूदनपुर में नही रुक रहा अपराध का ग्राफ, एक के बाद एक बड़ी वारदात को अंजाम दे रहे बदमाश

रिपोर्ट-सुमित शर्मा सिल्क टीवी/भागलपुर नाथनगर मधुसूदनपुर थाना क्षेत्र में इनदिनों अपराधी बेलगाम हो गए है। पुलिस ऐसे अपराधियों पर शिकंजा...

शादी का झांसा देकर युवती से तीन साल तक किया यौन शोषण, पीड़िता न्याय की गुहार लगाने पहुंची थाना तो आशिक युवक को बुलाकर...

रिपोर्ट-अंजनी ओम नवगछिया : कदवा ओपी थाना क्षेत्र में प्रेम प्रसंग की एक ऐसी खबर प्रकाश में आई है....

एसोसिएशन ऑफ मुस्लिम डॉक्टर्स का आठवां राष्ट्रीय वार्षिक कांफ्रेंस हुआ संपन्न….

 रिपोर्ट- सैयद इनाम उद्दीन सिल्क टीवी भागलपुर(बिहार) एसोसिएशन ऑफ मुस्लिम डॉक्टर्स का आठवां राष्ट्रीय वार्षिक कांफ्रेंस रविवार को संपन्न हो गया। एक...

Recent Comments