Homeधर्मदो साल बाद मस्जिदों में हुई अलविदा की नमाज, रोजेदारों ने मांगी...

दो साल बाद मस्जिदों में हुई अलविदा की नमाज, रोजेदारों ने मांगी मुल्क में अमन चैन की दुआ

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : माहे रमज़ान में 4 जुमा यानी चार शुक्रवार पड़ते हैं। जिसमें आखिरी जुमे को अलविदा के रूप में जाना जाता है। अलविदा होते ही मुस्लिम समुदाय के लोग ईद मनाने की तैयारी में जुट जाते हैं।

हालांकि पिछ्ले 2 साल से रमज़ान समेत सभी पर्व-त्योहारों पर कोरोना का पहरा रहा। लेकिन कोरोना के मामले में कमी आते ही लोग खुलकर खुशियां मना रहे हैं। भागलपुर के विभिन्न खानकाहों और मस्जिदों में शुक्रवार को अलविदा की नमाज़ मुस्लिम भाईयों ने अकीदत के साथ अदा की।

इस दौरान इबादतगाहों में नमाजियों की भीड़ उमड़ पड़ी। वहीं माहे रमज़ान के अंतिम जुमा पर उलेमाओं ने अलविदाई खुतबा पढ़ा। साथ ही ईद की नमाज़ अदा करने के पूर्व फितरा-जकात की राशि गरीबों और जरूरतमंदों में तक्सीम करने की बात कही।

गौरतलब है कि चांद 1 मई को दिखा तो 2 मई को ईद मनाई जाएगी, नहीं तो 3 मई को। इधर अलविदा की नमाज़ को लेकर सुबह 11 बजे से ही मस्जिदों में नमाजियों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी।

सैयद शाह मो. इंतेखाब आलम शहबाजी, सज्जादानशीन, खानकाह शहबाजिया, भागलपुर

मौलानाचक स्थित खानकाह शहबाजिया में सज्जदानशीं सैयद शाह मोहम्मद इंतेखाब आलम शहबाजी ने अलविदा के नमाज़ पढ़ाई। नमाज़ के बाद लोगों ने मुल्क की तरक्की और विश्व में शांति के लिए रब से दुआ मांगी।

वहीं शाहजहानी मस्जिद में सामूहिक रुप से कजा-ए-उमरी की नमाज़ पढ़ने के लिए भागलपुर समेत आस पास के जिलों से काफी संख्या लोग पहुंचे थे।

रमजान के अंतिम जुमा पर नमाजियों की उमड़ी भीड़

माहे रमजान के चौथे जुमा पर तातारपुर, शाह मार्केट, भीखनपुर, बरहपुरा, इस्लामनगर, गनीचक, हुसैनाबाद, मोजाहिदपुर, हबीबपुर, शाहजंगी समेत जिले की कई मस्जिदों में नमाजियों की संख्या अधिक दिखी। वहीं कुछ मस्जिदों के इर्द-गिर्द पुलिस के जवान मुस्तैद रहे।

तातारपुर, खलीफाबाग और भीखनपुर मस्जिद के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम थे। इधर भीखनपुर जामा मस्जिद के इमाम कारी नसीम अहमद अशरफी ने ऐलान किया कि ईद की नमाज भीखनपुर जामा मस्जिद में सुबह 8 बजे अदा की जाएगी।

मौलाना नसीम अहमद अशरफी, इमाम, भीखनपुर जामा मस्जिद

साथ ही उन्होंने अपनी तकरीर में ईद की नमाज अदा करने के पूर्व फितरा और जकात का पैसा गरीबों में बाटने का संदेश दिया। मौलाना नसीम अहमद अशरफी ने ईद की खुशियां सभी धर्म और समुदाय के लोगों के साथ मिलकर मनाने की अपील भी की है।

Silk Tv
Silk Tvhttps://silktvnews.com/
Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular