धर्मभागलपुर

तपिश भरी गर्मी में भी रोजेदारों का उत्साह नहीं हो रहा कम, रमजान के दूसरे जुमा पर मस्जिदों में नमाजियों की उमड़ी भीड़

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : रमजान रहमत और बरकत का महीना है। कहा जाता है कि यह सभी महीनों में सबसे अफजल है। वहीं माहे रमज़ान के दूसरे जुमा की नमाज़ भागलपुर के विभिन्न खानकाहों और मस्जिदों में अदा की गई।

इस अवसर पर भीखनपुर जामा मस्जिद के इमाम कारी नसीम अहमद अशरफी ने कहा कि रमजान का महीना तीन अशरों में बंटा है। पहला दस दिन रहमत का होता है।

नसीम अहमद अशरफी, इमाम जामा मस्जिद, भीखनपुर

दूसरा दस दिन बरकत और तीसरा दस दिन गुनाहों से छुटकारे का। इसलिए रोजे की अहमियत को समझें। उन्होंने रमजान की फजीलत पर रोशनी डालते हुए करीब आधा घंटा तकरीर किया। मौलाना नसीम अहमद अशरफी ने फितरा और जकात की राशि जरूरतमंदों के बीच बाटने की बात कही।

साथ ही उन्होंने ऐलान किया कि इस बार फितरा की राशि 50 रुपए से कम नहीं निकाले। इधर रमजान के दूसरे जुमा को लेकर सुबह से ही मुस्लिम समुदाय के लोगों में उत्सुकता देखी जा रही थी।

शहर समेत जिले के विभिन्न मस्जिदों में नमाजियों ने जुमा की नमाज अदा की। शहर के तातारपुर, मौलानाचक, गनीचक, भीखनपुर, बरहपुरा, इस्लामनगर, शाह मार्केट, हुसैनाबाद, मोजाहिदपुर समेत कई मस्जिदों में जबर्दस्त भीड़ देखने को मिली।

कुछ मस्जिदों में जगह के अभाव में लोगों को छतों पर नमाज अदा करनी पड़ी। इस मौके पर विभिन्न मस्जिदों के इमामों ने अपनी तकरीर में माहे रमजान की अहमियत और फजिलतों पर रोशनी डाली।

Silk Tv

Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button