अपराधभागलपुर

डालसा द्वारा आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में हुआ 15 सौ 21 मामलों का निष्पादन, 6 करोड़ 76 लाख की राशि पर हुआ समझौता

रिपोर्ट – रवि शंकर सिन्हा

सिल्क टीवी भागलपुर (बिहार) : राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकार और बिहार विधिक सेवा प्राधिकार के निर्देश पर शनिवार को भागलपुर व्यवहार न्यायालय परिसर स्थित सभागार में जिला विधिक सेवा प्राधिकार की ओर से राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन समारोह पूर्वक किया गया।

समारोह का उद्घाटन जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह डालसा के अध्यक्ष शिव गोपाल मिश्र, जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन, वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम, सिविल सर्जन डॉ. उमेश शर्मा और  डॉ. हेमशंकर शर्मा ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।

वहीं राष्ट्रीय लोक अदालत उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता करते हुए जिला जज शिव गोपाल मिश्र ने कहा कि काफी समय से लंबित मामलों और वादों के निष्पादन के लिए नालसा के निर्देश पर नियमित अंतराल पर देश में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाता है।

जिला जज ने कहा कि राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न विभागों के अलावा ऋण सम्बन्धी मामले, आपराधिक और पारिवारिक विवाद से जुड़े लंबित मामलों का निष्पादन दोनों पक्ष की सहमति से किया जाता है, जिसमे किसी भी पक्ष की जीत या हार नहीं होती है,

जबकि लोगों को आपसी सहमति के आधार पर मुकदमों का निपटारा हो जाता है। इधर जिलाधिकारी सह डालसा के उपाध्यक्ष सुब्रत कुमार सेन ने आम लोगों, वादियों और पक्षकारों से राष्ट्रीय लोक अदालत का लाभ लेकर लंबित मामलों से और कोर्ट के चक्कर से छुटकारा पाने की अपील की।

साथ ही डीएम ने कहा कि कोर्ट में केस की संख्या अधिक होने के कारण मामलों के निष्पादन में काफी लम्बा समय लग जाता है, और ऐसे में राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से आपसी सुलह के आधार पर बिना किसी खर्च के आसानी से मामलों का निष्पादन किया जा सकता है।

कार्यक्रम को एसएसपी बाबू राम ने भी सम्बोधित करते हुए कहा कि न्याय एक सतत प्रक्रिया है और न्यायालय की इस तरह की पहल का लाभ लेकर आपसी सूझबूझ से कानूनी विवादों से छुटकारा पाया जा सकता है।

इसके अलावा कई न्यायिक पदाधिकारियों और धिकारियों ने कार्यक्रम को सम्बोधित किया। मंच संचालन रमन कर्ण ने किया। वहीं इसके बाद कोर्ट परिसर में बनाए गए सभी बेंचों पर प्री लिटिगेशन, बैंक ऋण,

बिजली, बीमा, बीएसएनएल, डाक विभाग, मोटर वाहन दुर्घटना, विवाह सम्बन्धी मामले के अलावा लंबित आपराधिक शमनीय मामलों की भी सुनवाई हुई, जिसमें न्यायिक पदाधिकारियों की मौजूदगी में जिले के विभिन्न जगहों से आये वादियों, पक्षकारों, और अधिवक्ताओं ने हिस्सा लिया।

इस दौरान कोर्ट परिसर में काफी भीड़ देखी गई। वहीं इसको लेकर जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव एडीजे अतुल वीर सिंह ने कहा कि भागलपुर न्याय मंडल में शनिवार को हुए राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1521 मामलों का निष्पादन हुआ,

जिसमें कुल 6 करोड़ 76 लाख 30 हज़ार 834 रूपये की राशि पर समझौता हुआ। एडीजे अतुल वीर सिंह ने कहा कि भागलपुर व्यवहार न्यायालय, नवगछिया कोर्ट और कहलगांव कोर्ट परिसर में बनाए गए विभिन्न बेंचों पर बैंक से जुड़े वाद के कुल 840 मामलों का निष्पादन करते हुए

5 करोड़ 20 लाख 99 हज़ार 34 रूपये की राशि पर समझौता हुआ, जबकि मोटर दुर्घटना से जुड़े 14 मामलों का निपटारा करते हुए 1 करोड़ 5 लाख 95 हज़ार की बीमा राशि पर समझौता हुआ।

इसके अलावा बिजली से विवाद के 56 मामलों का निष्पादन करते हुए 31 लाख की राशि पर सुलह किया गया, जबकि पारिवारिक विवाद के लंबित 6 मामलों और बीएसएनएल के 32 मामलों पर समझौता हुआ। मौके पर कई न्यायिक पदाधिकारी, अधिवक्ता, कोर्ट कर्मी अमित कुमार, तुलिका कुमारी, अनुपम, और विभिन्न जगहों से मामलों का निपटारा कराने आये लोग मौजूद रहे।

Silk Tv

Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button