Home बिहार ट्रेनें नहीं चलने से स्थगित हुआ अंग राष्ट्रीय साहित्य समागम, अब 9...

ट्रेनें नहीं चलने से स्थगित हुआ अंग राष्ट्रीय साहित्य समागम, अब 9 और 10 जुलाई को होगा आयोजन

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : केंद्रीय हिंदी संस्थान,आगरा (शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार) की मदद से अंग मदद फाउंडेशन, भागलपुर द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष पर 25 और 26 जून को भागलपुर के रवींद्र भवन में होने वाला अंग राष्ट्रीय साहित्य समागम को स्थगित करने के लिए विवश होना पड़ा है। अब यह आयोजन 9 और 10 जुलाई को रविंद्र भवन और होटल मैक्स इन में ही होगा। यह जानकारी देते हुए अंग मदद फाउंडेशन की सचिव वंदना झा ने बताया कि हाल ही में देश में विभिन्न इलाकों में हुए हिंसक आंदोलनों की वजह से कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं, जिसके कारण अंग राष्ट्रीय साहित्य समागम में भाग लेने वाले विद्वानों, साहित्यकारों और कवियों का भागलपुर आना संभव नहीं रह गया है।

अनेक वैकल्पिक प्रयास भी नाकाम साबित हो चुके हैं। अगर भागलपुर से हवाई सेवा उपलब्ध होती तो आयोजन को स्थगित करने की नौबत नहीं आती। ट्रेनों की आवाजाही बाधित होने की वजह से अंग मदद फाउंडेशन को बहुत नुकसान भी उठाना पड़ा है हालांकि आयोजन की तैयारी पूरी हो चुकी थी । बस, देश भर से मेहमानों के आने का इंतजार था। वंदना झा ने बताया की मौजूदा उत्पन्न समस्याओं से जब केंद्रीय हिंदी संस्थान की निदेशक बीना शर्मा को अवगत कराया गया तो उन्होंने कार्यक्रम की तिथि आगे बढ़ाने की अनुमति दे दी है।
उनके मुताबिक ” स्वाधीनता संग्राम का साहित्य पर प्रभाव ” विषय पर केंद्रित विभिन्न सत्रों के साथ प्रसिद्ध समाजसेवी कुणाल सिंह के संयोजन में राष्ट्रीय कवयित्री सम्मेलन और अंगिका कवि महा सम्मेलन के आयोजन होने वाले थे। अब ये कार्यक्रम 9 और 10 जुलाई को होंगें। राष्ट्रीय स्तर के इस आयोजन में विद्वानों, साहित्यकारों के साथ कवि और कवयित्री उपस्थिति को सुनिश्चित करने की कोशिश फिर से की जा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments