भागलपुर

टीएमबीयू में छात्र-कर्मचारी भिड़े, एफआईआर दर्ज….

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में सेमेस्टर फोर की परीक्षा आयोजित करने की मांग को लेकर शनिवार को भी छात्रों ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान प्रदर्शनकारी छात्र और कर्मचारियों के बीच तीखी नोकझोंक हो गई। जिसके बाद छात्र और कर्मचारी आपस में भिड़ गए। दरअसल टीएमबीयू के लिए पीजी के सत्र 2017-19 के चाैथे सेमेस्टर की परीक्षा परेशानी का सबब बन गई है। करीब 20 महीने लेट हाे चुके सत्र को लेकर छात्र जुलाई में परीक्षा कराने की मांग कर रहे हैं। इसी कड़ी में छात्राें ने प्रशासनिक भवन में बंदी कर अधिकारियाें और कर्मचारियाें काे लगभग पांच घंटे तक बंधक बनाए रखा। वहीं कार्यालय खुलने के साथ जाे कर्मचारी प्रशासनिक भवन के अंदर चले गए थे, वे अंदर ही रह गए और जाे थाेड़ी देरी से आए थे वे बाहर ही खड़े रह गए। साथ ही प्रदर्शनकारी छात्र एक तरफ कुलपति काे बुलाने की मांग कर रहे थे तो दूसरी तरफ विश्वविद्यालय प्रशासन के विराेध में नारेबाजी। छात्राें का उग्र रुख देखकर कर्मचारियाें ने प्रशासनिक भवन काे अंदर से बंद कर लिया ताे छात्राें ने भी बाहर से तालाबंदी कर दी। वहीं शाम में जब अधिकारी और कर्मचारी बाहर निकलना चाह रहे थे ताे ताला बंद हाेने के कारण उसे ताेड़ना पड़ा। इस बीच दाेनाें पक्षाें में जमकर झड़प हाे गई। बताया जा रहा है कि भिड़ंत में दरबान रामभज्जू यादव काे काफी चाेट आई, जिसके बाद कर्मियों से छात्रों की बकझक शुरू हो गई। हालांकि इस दौरान कुछ अन्य कर्मचारी और छात्र भी चाेटिल हो गए। वहीं घटना के बाद कैंपस में अफरातफरी मची रही। इसके पूर्व डीएसडब्ल्यू और प्राॅक्टर सहित अन्य अधिकारी छात्राें काे समझाने आएं लेकिन वे नहीं मानें। विश्वविद्यालय थाने की पुलिस समझाने गई ताे छात्र उनसे भी उलझ गए। बाद में दाे-तीन थानाें की पुलिस काे बुलाया गया लेकिन फोर्स के आने तक छात्र वहां से निकल गए। वहीं वक्त रहते अगर विश्वविद्यालय के वरीय अधिकारी एक्शन में रहते तो शायद कर्मियों को बंधक नहीं बनना पड़ता।इधर घटना को लेकर प्राॅक्टर डाॅ. रतन मंडल ने प्रदर्शनकारी छात्रों पर केस दर्ज कराया है। प्रॉक्टर ने विश्वविद्यालय थाने में सरकारी काम में बाधा डालने, कोविड प्रोटोकाॅल का उल्लंघन करने, विश्वविद्यालय कर्मचारियों पर हमला करने के आरोप में आईसा के प्रवीण कुशवाहा सहित 20 छात्राें पर एफआईआर दर्ज करने के लिए आवदेन दिया है। गौरतलब हो कि विश्वविद्यालय में 12 जुलाई काे स्थापना दिवस है। जिसको लेकर टीएमबीयू प्रशासन ने सदर अनुमंडल अधिकारी काे मजिस्ट्रेट और पुलिस की तैनाती के लिए भी पत्र दिया है। ताकि छात्र कार्यक्रम में किसी तरह का बाधा नहीं पहुंचाएं।

Silk Tv

Silk TV पर आप बिहार सहित अंगप्रदेश की सभी खबरें सबसे पहले देख सकते हैं !

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker