Home भागलपुर टीएमबीयू : एमबीए बिल्डिंग का कुलपति ने किया उदघाटन, कोविड प्रोटोकॉल की...

टीएमबीयू : एमबीए बिल्डिंग का कुलपति ने किया उदघाटन, कोविड प्रोटोकॉल की उड़ी धज्जियां…..

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के नए एमबीए भवन का शुभारंभ शनिवार को कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने फीता काटकर किया। इसके पूर्व वीसी ने रंग-बिरंगे बैलून को आकाश में उड़ाया। साथ ही कुलपति ने शिलापट्ट का अनावरण करने के बाद कुल ध्वजारोहण किया। वहीं नए बिल्डिंग का उदघाटन कुलपति प्रो. नीलीमा गुप्ता, प्रति कुलपति प्रो. रमेश कुमार, समाजसेवी लक्ष्मी नारायण डोकानिया, रजिस्ट्रार डॉ. निरंजन प्रसाद यादव और एमबीए विभाग के निर्देशक प्रो. पवन कुमार पोद्दार ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर किया। बहु प्रतीक्षारत भवन का उदघाटन करने के बाद टीएमबीयू की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने कहा कि नए भवन में सभी मूलभूत सुविधाएं प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि विभाग में फर्नीचर, सीसीटीवी और लाइब्रेरी आदि की जरूरत है। जिसे पूरा किया जाएगा। कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता ने कहा कि एमबीए बिल्डिंग के निर्माण में पूर्व कुलपति प्रो. रामाश्रय प्रसाद यादव का महत्वपूर्ण और सराहनीय योगदान रहा है। अपने संबोधन में कुलपति ने विश्वविद्यालय के विकास के लिए छात्रों से सुझाव लिए जाने की बात कही। उन्होंने एमबीए भवन सहित सभी पीजी विभागों में एक सजेशन बॉक्स लगाने का निर्देश देते हुए डीएसडब्ल्यू प्रो. रामप्रवेश सिंह को पहल करने के लिए कहा। वहीं प्रो. पी.के. पोद्दार के सुझाव पर वीसी ने सहमति जताते हुए कहा कि पीएचडी वायवा लेने के लिए बाहर से आने वाले एक्सटर्नल से सम्बंधित पीजी विभाग में उनका व्याख्यान कराया जाए ताकि छात्रों को लाभ मिल सके। इधर प्रति कुलपति प्रो. रमेश कुमार ने कहा कि करीब बीस साल बाद एमबीए विभाग को नया भवन मिलना बड़ी उपलब्धि है। साथ ही कहा कि वीसी प्रो. नीलिमा गुप्ता के नेतृत्व में विश्वविद्यालय विकास के पथ पर अग्रसर है और अधूरे पड़े कार्य भी तेजी से हो रहें हैं। उन्होंने छात्रों के प्लेसमेन्ट को जरूरी बताया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजसेवी लक्ष्मी नारायण डोकानिया ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में मारवाड़ी समाज का योगदान काफी अतुलनीय है।डोकानिया ने एमबीए विभाग की सभी छोटी-मोटी जरूरतों और आवश्यकताओं को पूरा करने की बात कही। इसके पूर्व एमबीए विभाग के डायरेक्टर प्रो. पवन कुमार पोद्दार ने कुलपति, प्रतिकुलपति सहित सभी अतिथियों का स्वागत किया। साथ ही विभाग में बेंच-डेस्क सहित जरुरी संसाधन उपलब्ध कराने की मांग की। धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव डॉ. निरंजन प्रसाद यादव ने किया। जबकि मंच संचालन विभाग की छात्राओं ने किया। मौके पर प्रॉक्टर प्रो. रतन मंडल, सीसीडीसी डॉ. के.एम सिंह, पीआरओ डॉ. दीपक कुमार दिनकर, पूर्व डिप्टी मेयर डॉ. प्रीति शेखर, शिक्षाविद् राजीव कांत मिश्रा, डॉ. काजी कामरान सहित कई शिक्षक, कर्मी और छात्र छात्राएं मौजूद थे। इधर नए एमबीए भवन के उदघाटन को लेकर तैयारी तो खूब की गई थी, लेकिन लापरवाही का आलम यह रहा कि कुछ को छोड़कर कार्यक्रम में मौजूद शिक्षक और छात्र छात्राओं ने मास्क तक लगाना उचित नहीं समझा। इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ती रही और जिम्मेदार तालियां बजाने में व्यस्त दिखे। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि अगर कार्यक्रम में मौजूद लोगों में से कोई भी कोरोना संक्रमण का शिकार होता है तो इसका जिम्मेवार कौन होगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments