Home धर्म चेहल्लुम को लेकर शिया समुदाय के लोगों ने निकाला मातमी जुलूस, सुरक्षा...

चेहल्लुम को लेकर शिया समुदाय के लोगों ने निकाला मातमी जुलूस, सुरक्षा के दिखे पुख्ता इंतजाम….

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब के नवासे हजरत इमाम हुसैन की शहादत के चालीसवां पर शिया समुदाय के लोगों ने मातम किया। इस दौरान छोटे-छोटे बच्चों भी मातम करते दिखे। साथ ही नौहा पढ़ हजरत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया।चेहल्लुम के मौके पर भागलपुर में मंगलवार को शिया समुदाय के लोगों ने अलम का जुलूस निकाला।

वहीं जुलूस में शामिल नासिर हुसैन और जैगम अली ने इमाम हुसैन और उनके रिश्तेदारों को याद कर नोहाखानी और मरसिया पढ़ा। जबकि इलाहाबाद से आए मौलाना सैयद गालिब अब्बास जैदी और भागलपुर के सैयद फजले हसन ने कहा कि माहे मुहर्रम की 10 तारीख को हजरत इमाम हुसैन और उनके 71 साथियों को यजीद की जालिम फ़ौज ने कर्बला के मैदान पर शहीद कर दिया था, उसी गम के इजहार के लिए हम लोग मातम करते हैं।

इधर चेहल्लुम को लेकर भागलपुर शिया वक्फ कमेटी के जिला सचिव सैयद जीजाह हुसैन ने बताया कि असानंदपुर के छोटा इमामबाड़ा और नया बाजार से अलम का जूलूस निकाला गया। दोनों जूलूस का मिलन मुस्लिम हाई स्कूल के समीप हुआ। इसके बाद पहलाम के लिए शिया समुदाय के लोग लल्लू मियां के इमामबाड़ा होते हुए सीधा शाहजंगी स्थित कर्बला के लिए रवाना हो गए।

इस दौरान शिया यूथ कमेटी के सचिव सैयद रागिब हसन ने बताया कि इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक नए साल की शुरुआत मुहर्रम के महीने से होती है। उन्होंने कहा कि मुसलमानों के लिए यह महीना बेहद गम भरा होता है और जब भी मुहर्रम की बात होती है तो सबसे पहले जिक्र कर्बला का किया जाता है। क्योंकि आज से लगभग 1400 साल पहले तारीख-ए-इस्लाम में कर्बला की जंग हुई थी, और ये जंग जुल्म के खिलाफ इंसाफ के लिए लड़ी गई थी।

चेहल्लुम को लेकर सेंट्रल मोहर्रम कमेटी के प्रो. फारूक अली, शान्ति समिती के डॉ. सलाह उद्दीन अहसन, प्रो. एजाज अली रोज, समाजसेवी शेर खान, मिंटू कलाकार, जियाउल हक, जावेद तकी, जुम्मन अंसारी समेत विभिन्न कमेटी से जुड़े सदस्य मौजूद रहे। भागलपुर में चेहल्लुम को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे।

सुबह से ही तातारपुर थाना की पुलिस इंस्पेक्टर संजय कुमार सुधांशु के नेतृत्व में असानंदपुर इमामबाड़ा और विभिन्न स्थानों पर गश्ती करती दिखी। जुलूस में किसी तरह का अवरोध न हो इसको लेकर पुलिस के जवान पदाधिकारी के साथ मुस्तैद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments