Home भागलपुर अहिंसा दिवस के रूप में मनाई गई राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती

अहिंसा दिवस के रूप में मनाई गई राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती

रिपोर्ट – सैयद ईनाम उद्दीन

सिल्क टीवी/भागलपुर (बिहार) : दो अक्टूबर का दिन भारत के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इस दिन को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में भी सेलिब्रेट किया जाता है। गौरतलब हो कि दो अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती भी मनाई जाती है। बता दें लाल बहादुर शास्त्री देश के दूसरे प्रधानमंत्री थे।

शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर, 1904 को उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था। जबकि अंग्रेजी हुकूमत से भारत को आजादी दिलवाने वाले और ‘राष्ट्रपिता’ की उपाधि से सम्मानित महात्मा गांधी दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं। सत्य और अहिंसा के पुजारी गांधी जी ने भारत को गुलामी की बेड़ियों से मुक्त करवाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। उन्होंने पूरी दुनिया को सत्य, अहिंसा और शांति का पाठ पढ़ाया था।

इधर भागलपुर में भी महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री की जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। कांग्रेस कैंप कार्यालय में कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने बापू की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस दौरान कई नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे। वहीं विधायक अजीत शर्मा ने कहा कि देश आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152वीं जयंती मना रहा है। उन्होंने बताया कि बापू के सिद्धांत आज भी प्रासंगिक हैं। अपने संबोधन में अजीत शर्मा ने कहा कि  गांधी का जीवन और आदर्श देश की हर पीढ़ी को कर्तव्य पथ पर चलने के लिए प्रेरित करता रहेगा। विधायक ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी उनकी जयंती पर शत-शत नमन किया।

इधर भागलपुर जिला जदयू की ओर से महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री की जयंती मानिक सरकार चौक स्थित पार्टी ऑफिस में मनाया गया। मौके पर जिला उपाध्यक्ष ओम भास्कर और महानगर संयोजक संजय सिन्हा के द्वारा महानगर कमेटी का गठन भी किया गया। इस अवसर पर व्यवसायिक प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक भुवानिया, संजय राम, मीडिया प्रभारी कुणाल सिंह समेत संगठन से जुड़े कई लोग मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments