Home राष्ट्रीय दिल्ली में बढ़ते मामलों पर सिसोदिया बोले, कोरोना से लड़ने का एकमात्र...

दिल्ली में बढ़ते मामलों पर सिसोदिया बोले, कोरोना से लड़ने का एकमात्र उपाय मेडिकल मैनेजमेंट..

दिल्ली में बेकाबू होते कोरोना के मामलों के चलते लॉकडाउन फिर से लौटने की संभावनाओं को लेकर जारी असमंजस की स्थिति दिल्ली सरकार ने अब खत्म कर दी है। उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि दिल्ली सरकार का फिर से लॉकडाउन लागू करने का कोई इरादा नहीं है क्योंकि सरकार का मानना ​​है कि यह COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में यह कोई समाधान नहीं है। कोरोना वायरस मामलों की संख्या में वृद्धि और इसके कारण होने वाली मौतों की संख्या के चलते राजधानी में लॉकडाउन के फिर से लौटने की अटकलों के मद्देनजर सरकार की ओर से यह बात कही गई है। दिल्ली में फिलहाल COVID-19 मामलों की कुल संख्या 4,95,598 है, जिनमें 42,004 एक्टिव मामले। दिल्ली में अबत तक 4,45,782 ठीक हो चुके हैं और 7,812 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी हैं।

मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली सरकार का लॉकडाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है। हमारा मानना ​​है कि लॉकडाउन COVID-19 के खिलाफ लड़ाई में कोई समाधान नहीं है। समाधान बेहतर अस्पताल प्रबंधन और बेहतर चिकित्सा प्रणाली है। दिल्ली सरकार ने चिकित्सा प्रणाली को अच्छी तरह से प्रबंधित किया है और भविष्य में भी वह इसे और बेहतर करेगी। सिसोदिया ने कहा कि लॉकडाउन नहीं लगेगा, लेकिन जरूरत पड़ने पर कुछ बाजारों में प्रतिबंध बढ़ा दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मैं दुकानदारों को आश्वस्त करना चाहता हूं, उन्हें डरने की जरूरत नहीं है। हमारा लॉकडाउन लगाने का इरादा नहीं है। हम चाहते हैं कि आपकी दुकानें खुली रहें, अगर जरूरत हुई तो कुछ बाजारों में प्रतिबंध बढ़ जाएंगे। हम केंद्र सरकार से भी यही अनुरोध करेंगे,  लेकिन यह किसी भी तरह से लॉकडाउन नहीं होगा।इससे पहले दिन में, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी यह स्पष्ट किया था कि राजधानी में कोई लॉकडाउन नहीं होगा, लेकिन कहा कि कुछ व्यस्तम स्थानों पर स्थानीय प्रतिबंध बढ़ाए जा सकते हैं।

15 नवंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कोरोना वायरस की स्थिति की समीक्षा के लिए एक बैठक की अध्यक्षता की थी। बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी नॉर्थ ब्लॉक में हुई बैठक में भाग लिया था। बैठक के बाद अमित शाह ने दिल्ली में कोरोना वायरस मामलों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट की संख्या दोगुनी करने और स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने सहित कई उपायों की घोषणा की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

किसान विल के विरोध में पटना की सड़कों पर उतरा भाकपा माले,दीपंकर भट्टाचार्य ने शाहीन बाग से तुलना करते हुए कही ये बातें

मोदी सरकार द्वारा संविधान और लोकतंत्र की हत्या करके बनाए गए तीन किसान विरोधी कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर...

बेगूसराय में उत्पाद विभाग की टीम ने लगभग 20 लाख रुपये की शराब की जब्त, तीन लोगों को किया गिरफ्तार…

उत्पाद निरीक्षक दुर्गेश कुमार ने बताया कि पकड़े गए धंधेबाजों ने जानकारी दी है कि मुजफ्फरपुर से उन्हें शराब की डिलीवरी...

बिना मास्क के वाहन चालकों और यात्रियों पर लगाया गया जुर्माना, प्रदूषण फैलाने वालों वाहनों की भी जांच…

राजधानी पटना  में परिवहन विभाग एवं ट्रैफिक पुलिस द्वारा विभिन्न पोस्ट पर विशेष वाहन जांच अभियान चलाया गया। हेलमेट-सीटबेल्ट के साथ प्रदूषण,...

सुशील कुमार मोदी बोले- भले मैं सरकार में नहीं, लेकिन मेरी आत्मा इसी में बसती है..

बिहार के डिप्टी सीएम रह चुके सुशील कुमार मोदी को इस बार पार्टी राज्यसभा भेज रही है और माना जा रहा...

Recent Comments